Breaking: मिथुन चक्रवर्ती की पत्नी और बेटे महाक्षय के खिलाफ मामला दर्ज, रेप और जबरन अबॉर्शन के लगे आरोप

मिथुन चक्रवर्ती के साथ महाक्षय.

पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में पीड़िता ने बताया कि- ‘साल 2015 में महाक्षय (Mahaakshay Chakraborty) ने पीड़िता को घर बुलाया और उसे सॉफ्ट ड्रिंक में नशीली दवा दी थी और इस दरम्यान महाक्षय ने पीड़िता के बिना कन्सेन्ट के ही उसके साथ फिजिकल रिलेशन बनाए.

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 18, 2020, 8:10 AM IST

मुंबईः बॉलीवुड एक्टर मिथुन चक्रवर्ती (Mithun Chakraborty) की पत्नी योगिता बाली और बेटे महाक्षय (Mahaakshay Chakraborty) उर्फ मेमो पर बलात्कार (Rape), चीटिंग और जबरन अबॉर्शन कराने के मामले में मुम्बई के ओशिवरा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है. पीड़िता द्वारा पुलिस को लिखी गई लिखित शिकायत के मुताबिक- ‘पीड़िता और अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती के बेटे महाक्षय उर्फ मेमो से 2015 से रिलेशनशिप में थे. महाक्षय ने इस दरम्यान पीड़िता से शादी का झांसा देकर पीड़िता के साथ शारीरिक संबंध बनाए.’

पुलिस को दी गई लिखित शिकायत में पीड़िता ने बताया कि- ‘साल 2015 में महाक्षय ने पीड़िता को घर बुलाया और उसे सॉफ्ट ड्रिंक में नशीली दवा दी थी और इस दरम्यान महाक्षय ने पीड़िता के बिना कन्सेन्ट के ही उसके साथ फिजिकल रिलेशन बनाए और बाद में शादी का झांसा देता रहा. महाक्षय उर्फ़ मेमो 4 साल तक पीड़िता के साथ शारीरक संबंध बनाता रहा और शारीरिक, मानसिक तौर पर उसे पीड़ा पहुंचाता रहा.’

ये भी पढ़ेंः सैंडलवुड ड्रग्स केसः विवेक ओबेरॉय की पत्नी को सिटी क्राइम ब्रांच ने भेजा नोटिस, फरार भाई से जुड़ा है मामलापीड़िता के मुताबिक, जब वो इस रिलेशनशिप की वजह से प्रेग्नेंट हुई तो महाक्षय उर्फ मेमो ने उसे अबॉर्शन करवाने के लिए दबाव डाला और जब वो नहीं मानी तो उसे कुछ पिल्स देकर उसका अबॉर्शन भी करवा दिया. पीड़िता के मुताबिक उसे नही पता था कि उसे दी जा रही पिल्स से उसका अबॉर्शन हो सकता है. पीड़िता का कहना है कि, ‘महाक्षय की मां और एक्टर मिथुन चक्रवर्ती की पत्नी ने पीड़िता की शिकायत के बाद पीडिता को धमकाया था और मामले को रफादफा करने के लिए दबाव भी बनाया.

ये भी पढ़ेंः शहनाज गिल ने शेफाली बग्गा के साथ शेयर की फोटो, बोलीं- ‘इसने मुझे धमकी दी कि…’

पीड़िता ने पहले भी इस मामले में एफआईआर दर्ज करवाने की कोशिश की थी, लेकिन जब पुलिस मामला दर्ज नहीं किया. इस दौरान पीड़िता दिल्ली शिफ्ट हो गई जहां उसने दिल्ली के रोहिणी कोर्ट में एफआईआर दर्ज करवाने के लिए अपील की थी. जिसके प्राइमा फेंसी एविडेंस के आधार पर कोर्ट ने मामले में एफआईआर दर्ज करने और जांच करने के आदेश दिए थे. जिसके बिना पर गुरुवार को मुंबई के ओशिवरा पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया.

Source link