बदलने वाला है मोबाइल SIM से जुड़ा ये नियम! कोरोना वायरस के चलते संगठन ने रखी बात

 

ग्राहकों के लिए खुद से केवाईसी (KYC) करने की प्रक्रिया की बात रखी गई है.

इस लॉकडाउन के दौरान नया मोबाइल कनेक्शन लेने का कोई ऑप्शन नहीं बचा है, इसलिए संगठन ने SIM से जुड़ी ज़रूरी बात रखी है…

दूरसंचार कंपनियों (telecom companies) से जुड़े एक संगठन ने सरकार से नए मोबाइल कनेक्शन को लेकर ग्राहकों के लिए खुद से केवाईसी (KYC) प्रक्रिया का पालन करने की अनुमति देने को कहा है. देश में कोरोना वायरस (coronavirus) महामारी की रोकथाम के लिए जारी ‘लॉकडाउन’ (बंद) के कारण नए ग्राहक नहीं आने के बीच संगठन ने ये बात कही है. सेल्यूलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (COAI) और दूरंसचार सेवा प्रदाताओं की संयुक पहल-एपेक्स एडवाइजरी काउंसिल फार टेलीकॉम इन इंडिया (ACT) ने कहा कि इस समय देश में जब सामाजिक रूप से दूरी बनाई रखी गई है, इस चुनौतीपूर्ण माहौल में वैकल्पिक डिजिटल प्रक्रिया की जरूरत है.

एसीटी ने दूरसंचार सचिव अंशु प्रकाश को लिखे पत्र में कहा कि इस ‘लॉकडाउन’ के दौरान नया मोबाइल कनेक्शन लेने का कोई ऑप्शन नहीं बचा है. संगठन ने कहा है कि इसीलिए ग्राहकों को स्वयं से केवाईसी प्रक्रिया के जरिए नया मोबाइल कनेक्शन लेने की अनुमति देने की जरूरत है. ग्राहक इसे स्वयं ऑनलाइन डिजिटल प्रक्रिया के जरिए कर सकते हैं.

ACT ने सुझाव दिया है कि स्वयं से केवाईसी प्रक्रिया के जरिए नया मोबाबइल कनेक्शन और सिम बदलने की अनुमति लोगों को मिलनी चाहिए. उद्योग द्वारा प्रस्तावित केवाईसी में फार्म भरना, अपना फोटो (लाइव) लगाना और टाइम स्टांप के साथ पासवार्ड का इस्तेमाल करना शामिल हैं.

संगठन ने कहा कि प्रस्तावित प्रक्रिया में KYC से संबंधित सभी दिशानिर्देशों का पालन किया जाएगा और उसे ऑनलाइन उपायों के जरिए पूरा किया जाएगा. इसमें जरूरी सुरक्षा उपाय किए गये हैं ताकि केवाईसी दिशानिर्देश का जो मकसद है, वह पूरा हो.
(इनपुट-भाषा से)

Source link

Leave a Comment