बड़ी खबर: हार्ट अटैक से भारतीय दिग्‍गज कप्‍तान का निधन

कार्लटन चैपमैन 49 साल के थे (फोटो क्रेडिट: इंडियन फुटबॉल ट्विटर हैंडल)

बेंगलुरू के हॉस्पिटल में सोमवार को पूर्व दिग्‍गज भारतीय कप्‍तान ने दुनिया को अलविदा कह दिया

  • News18Hindi

  • Last Updated:
    October 12, 2020, 4:50 PM IST

नई दिल्‍ली. हर किसी के लिए यह साल कुछ खास नहीं रहा. खेल जगत में भी इस साल अच्‍छी खबर कम और बुरी खबर ज्‍यादा ही सुनने में आ रही है. अब भारतीय फुटबॉल (football) जगत से खेल प्रेमियों के लिए काफी बुरी खबर आ रही है. पूर्व भारतीय कप्‍तान कार्लटन चैपमैन (Carlton Chapman) का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया है. वह 49 साल के थे. रविवार को तबीयत बिगड़ने के बाद उन्‍हें बेंगलुरू के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां उन्‍होंने सोमवार को दुनिया को अलविदा कह दिया. चैपमैन की गिनती देश के सबसे बेहतरीन मिडफील्‍डर्स में की जाती थी.

1995 से 2001 तक भारत का प्रतिनिधित्‍व करने वाले चैपमैन ने 1997 में अपनी कप्‍तानी में भारत को SAFF कप दिलाया था. उन्‍होंने क्‍लब स्‍तर पर ईस्‍ट बंगाल की तरफ से दो और जेसीटी की तरफ से एक सीजन खेला था. 90 के दशक में  क्‍लब स्‍तर पर चैपमैन, बाईचुंग भूटिया और आईएम विजयन की तिकड़ी काफी पॉपुलर थी.

यह भी पढ़ें:

IPL 2020: डेविड वॉर्नर का विकेट लेकर जोफ्रा आर्चर ने जीता यह खास तोहफा, जानिए कैसेF1 ड्राइवर लुईस हैमिल्टन के फैन हैं सचिन तेंदुलकर, खास मौके पर ट्वीट करके दी बधाई

1993 में ईस्‍ट बंगाल से जुड़ने वाले चैपमैन ने एशियन कप विनर्स कप के पहले राउंड के मुकाबले में गोलों की हैट्रिक लगाते हुए टीम को इराक के फुटबॉल क्‍लब अल जवारा के खिलाफ 6-2 से जीत दिलाई थी. मगर उनका सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 1995 में जेसीटी क्‍लब से जड़ने के बाद  फैंस को देखने को मिला. उन्‍होंने इस क्‍लब से खेलते हुए 14 ट्रॉफियां जीती, जिसमें 1996- 97 में नेशनल फुटबॉल लीग का पहला सीजन भी शामिल है


Source link